भारत की 30+ प्रमुख नदियां, उद्गम स्थल, लम्बाई | River of India in Hindi, Origin, longest

Rate this post

River of India in Hindi, List of Rivers in India in Hindi, Largest River of India in Hindi, River in India in Hindi, Indian River System in Hindi, River in India map in Hindi, Rivers of India and their Origin and Tributaries (भारत की प्रमुख नदियां, भारत की नदियों नाम, भारत की प्रमुख नदियाँ और उनके उद्गम स्थल PDF, भारत की नदियों के नाम, भारत की नदियों की लम्बाई) 

Join whatsapp group Join Now
Join Telegram group Join Now

भारत को नदियों का देश भी कहा जाता है भारत में बहने वाल बहूत सारी छोटी बड़ी नदियाँ है जोकि भारत देश की सुन्दरता को चार चाँद लगाती है भारत में लगभग 4000 से अधिक नदिया है इन सब नदियों का अपना अपना महत्व है बहूत सी नदियाँ धार्मिक स्थलों से जुड़ी हुई है जिनमे लोग स्नान भी करते है भारत की नदियों का देश के आर्थिक विकास में भी बहुत योगदान दिया है जैसे की देश में बहने वाली नदियों से बिजली पैदा करके लोगो तक पहुंचना आदि इस लेख में आपको भारत की प्रमुख नदियों के बारे में बतायेगे जिनमें से प्रतियोगी परीक्षा में से प्रश्न पूछे जाते है भारत से निकलने वाली नदियों को दो भागों में बाटा गया है

  • हिमालय से निकलने वाली नदियां (हिमालयी अपवाह तंत्र)
  • प्रायद्वीपीय भारत से निकलने वाली नदियां (प्रायद्वीपीय अपवाह तंत्र)
River of India
नदियों के नाम उद्गम स्थल लम्बाई (किलोमीटर में)  
सिंधु नदीसानोख्याबाब 2880 
गंगा नदीहिमानी 2525 
ब्रह्मपुत्र नदीमानसरोवर झील के निकट 2900 
गोदावरी नदीत्रम्बकेश्वर 1465
कृष्णा नदीमहाबलेश्वर 1400 
कावेरी नदीब्रह्मगिरि पहाड़िया  800 
नर्मदा नदीअमरकंटक 1312 
ताप्ती नदीसतपुड़ पहाड़िया 724 
महानदी सिहावा पहाड़ी 1815 

भारत की प्रमुख नदियां

हिमालयी अपवाह तंत्र 

सिंधु नदी (Indus River)

सिन्धु नदी भारत की प्रमुख नदियों में से एक है सिन्धु नदी का उद्गम तिब्बत के मानसरोवर झील के सानोख्याबाब हिमनद से निकली है इस नदी की कुल लम्बाई 2880 KM है उत्तर पश्चिम दिशा से बहती हुई ये नदी भारत के लद्दाख के दमचोक के पास से भारत में प्रवेश करती है आगे बहती हुई ये नदी गिलगित से होते हुए ददिस्तान के पास पाकिस्तान में प्रवेश करती है और कराची से पूर्व से होते हुए अरब सागर में मिल जाती है भारत का लेह शहर सिन्धु नदी के दाए तट पर स्थित है।

सिंधु की सहायक नदियां 

सिन्धु नदी अरब सागर में मिलने से पहले सिन्धु नदी में 5 नदियां मिलती है जिनको हम सहायक नदियां भी कहते है सिन्धु नदी की प्रमुख 5 सहायक नदियां है।

  • चेनाव नदी: सिन्धु नदी की सबसे बड़ी सहायक नदी चेनाव नदी है चिनाब नदी का उद्गम बारालाचा दर्रे के समीप से होता है चिनाब नदी चन्द्रा और भागा दो नदियों से मिलकर बनी है इसलिए इस नदी को हिमाचल प्रदेश में चंद्रभागा नाम से भी जाना जाता है चिनाब नदी पाकिस्तान में जाकर सिन्धु नदी में मिलती है। सिन्धु नदी में मिलने से पहले चेनाब नदी में झेलम, रावी, सतलुज, व्यास नदियां आकर मिलती है।
  • रावी नदी: रावी नदी रोहतांग दर्रे (बड़ा भागल) से निकलकर कश्मीर और पंजाब से होती हुए ये नदी पाकिस्तान के झग के निकट में चेनाव नदी मिल जाती है। रावी नदी की कुल लंबाई 720 km है।
  • झेलम नदी: झेलम नदी कश्मीर घाटी के बैरीनाग के निकट से निकलती है झेलम नदी 170km भारत पाकिस्तान सीमा का निर्माण करती है और ये नदी पाकिस्तान के झग के निकट में चेनाव नदी में मिलती है।
  • सतलुज नदी: सतलुज नदी तिब्बत के मानसरोवर झील (रकस झील) से निकलती है और सिन्धु नदी के समानांतर बहती हुई हिमाचल प्रदेश में प्रवेश करती है आगे पंजाब में होते हुए पाकिस्तान के बहावलपुर में चिनाब नदी में प्रवेश करती है पाकिस्तान के बहावलपुर में जब सतलुज नदी चेनाब नदी से मिलती है तब ये चेनाब में मिलकर पंचनद नदी का निर्माण करती है मतलब की सिन्धु नदी 45 किलोमीटर मिलने से पहले तक ये पांच नदियाँ यहाँ से एक होकर बहती है सतलुज नदी हिमाचल प्रदेश की प्रमुख नदियों में से एक है यह हिमाचल प्रदेश की सबसे लम्बी नदी भी है
  • व्यास नदी: व्यास नदी का उद्गम रोहतांग दर्रे से होता है इस नदी की कुल लम्बाई 460 किलोमीटर है व्यास नदी हिमाचल प्रदेश के कुल्लू घाटी में बहती हुई पंजाब के हरिके में सतलुज नदी में मिल जाती है व्यास और सतलुज नदी का संगम जो हरिके क्षेत्र में होता है वही से देश की सबसे लम्बी नहर इंदिरा गाँधी नहर निकलती है जो की पंजाब राजस्थान से होकर गुजरती है राजस्थान में इसकी लम्बाई सबसे अधिक 470 किलोमीटर है  
  • सिंधु जल समझौता पानी के वितरण के लिए 1960 में हुई भारत और पाकिस्तान के बीच हुई एक जल सन्धि है इस समझौते के अनुसार तीन पूर्वी नदियों रावी, व्यास, सतलुज का नियत्रण भारत को और अन्य सिंधु, चिनाब, और झेलम का नियत्रण पाकिस्तान को दिया गया है     

गंगा नदी (Ganga River)

गंगा नदी भारत की सबसे लम्बी नदी है गंगा नदी की कुल लम्बाई 2525 किलोमीटर है भारत में इस नदी की कुल लम्बाई 2071 किलोमीटर है इस नदी को 2008 में राष्ट्रीय नदी का दर्जा दिया गया और गंगा के किनारे बसा सबसे बड़ा शहर कानपूर है सतोपथ हिमानी से निकली अलकनंदा नदी और गौमुख से निकली भागीरथी नदी जब देवप्रयाग में मिलती है तब ये सयुक्त रूप से गंगा के नाम से जानी जाती है 

अलकनंदा की दो सहायक नदिया है पिंडार नदी और मन्दाकिनी नदी पिंडार नदी अलकनंदा को कर्णप्रयाग में आकर मिलती है प्रसिद्ध बद्रीनाथ मंदिर अलकनंदा नदी के तट पर स्थित है मन्दाकिनी नदी अलकनंदा को रुद्रप्रयाग में आकर मिलती है प्रसिद्ध केदारनाथ मंदिर मन्दाकिनी नदी के तट पर स्थित है

उत्तराखंड से निकली गंगा नदी उत्तरप्रदेश, बिहार से होती हुई पश्चिम बंगाल तक बहती हैं गंगा नदी पश्चिम बंगाल के फरक्का मे हुगली और भागीरथी दो धाराओं में बट जाती है।

भागीरथी नदी बांग्लादेश में मुख्य धारा के रूप में प्रवेश करती है गंगा नदी को बांग्लादेश में पद्मा के नाम से जाना जाता है आगे बहती हुई ये पद्मा ब्रह्मपुत्र से मिल जाती है ब्रह्मपुत्र को बांग्लादेश में जमुना के नाम से जाना जाता है गंगा और जमुना का संयुक्त रूप को मेघना कहा जाता है मेघना के रूप में बंगाल की खाड़ी में यह नदी मिल जाती है।

गंगा की सहायक नदियां 
  • यमुना नदी: यमुना नदी गंगा की सबसे बड़ी सहायक नदी है जो उत्तराखंड के बंदरपूछ चौटी पर स्थित यमुनोत्री हिमानी से निकलती है गंगा नदी उत्तराखंड हरियाणा, दिल्ली, उत्तरप्रदेश से बहती हुए प्रयागराज (इलाहबाद) में गंगा नदी से जाकर मिल जाती है यमुना नदी का प्राचीन नाम कालिंदी नदी है चंबल, बेतवा, केन आदि यमुना की सहायक नदिया है।
  • चम्बल नदी: चम्बल नदी मध्यप्रदेश के इंदौर स्थित मह क्षेत्र के जानापाव पर्वत से निकलती है इस नदी की लम्बाई 965 Km है उत्तर-मध्य भाग में बहती हुई ये नदी राजस्थान से होकर उत्तरप्रदेश के इटावा में यमुना नदी से मिल जाती है
  • बेतवा नदी: बेतवा नदी मध्यप्रदेश के भोपाल से निकलती है जो उत्तरपूर्वी दिशा में बहते हुए उत्तरप्रदेश के हमीरपुर में यमुना से मिल जाती है। प्रसिद्ध स्थान सांची बेतवा नदी के किनारे स्थित है सांची में कई बौद्ध स्मारक है, सांची का स्तूप अशोक ने तीसरी शताब्दी ईसा पु में बनाया था।
  • कोसी नदी: कोसी नदी नेपाल में हिमालय से निकलती है और बिहार में प्रवेश करती है ये नदी प्राय अपना मार्ग बदलने के कारण चर्चा में रहती है कोसी नदी से आने वाली बाढ़ से बिहार में अधिक मात्रा में तबाही देखने को मिलती है, इसलिए इस नदी को “बिहार का शोक” कहा जाता हैं कोसी नदी बिहार के कटिहार में गंगा नदी से मिल जाती है।
  • दामोदर नदी: दामोदर नदी झारखंड के छोटा नागपुर पठार से निकलती है और पश्चिम में बहते हुए ये हुगली नदी में जाकर मिल जाती है, इस नदी में अचानक आने वाली बाढ़ के कारण इसे बंगाल का अभिशाप भी कहा जाता है प्रदूषण के कारण इस नदी को “जैविक मरुस्थल” कहा जाता है।
  • गोमती नदी: गोमती नदी का उद्गम उत्तरप्रदेश के पीलीभीत स्थित गोमतताल से होता है जिसे फुलहर झील भी कहते है, ये गंगा नदी की एक मात्र ऐसी सहायक नदी है जिसका उद्गम मैदान से होता है।
  • घाघरा नदी: घाघरा नदी नेपाल के मसपा तुंग से निकलती है इस नदी की कुल लम्बाई 1080 किलोमीटर है घाघरा नदी को पर्वतीय इलाको में करनाली और मैदानी इलाकों में घाघरा कहाँ जाता है यह नदी नेपाल से बहती हुई भारत के उत्तर प्रदेश, में बहती हुई बिहार के छपरा में गंगा नदी में मिलती है घाघरा नदी को सरयू नदी के नाम से जाना जाता है
  • सोन नदी: सोन नदी मध्यप्रदेश के अमरकंटक नामक स्थान से निकलती है और उत्तर की ओर बहती हुई सोन नदी पटना के निकट गंगा में मिल जाती है। सोन नदी और यमुना नदी के बीच जल विभाजक का काम कैमूर की पहाड़िया करती है। इनके अलावा गंगा की सहायक नदियों में गंडक नदी गंगा के बाए तट पर आकर मिलती है   
  • काली नदी: काली नदी नदी को शारदा और कालीगंगा के नाम से जाना जाता है। काली नदी का उद्गम हिमालय स्थित कालापानी नामक स्थान से होता है, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश में होते हुए यह नदी घाघरा नदी के साथ मिल जाती है काली नदी पूर्व की ओर नेपाल और भारत की अंतराष्ट्रीय सीमा बनती है।

ब्रह्मपुत्र नदी (Brahmaputra River)

ब्रह्मपुत्र नदी तिब्बत के मानसरोवर झील के निकट से निकलती है ये नदी तिब्बत, भारत और बांग्लादेश से होकर बहती है तिब्बत से निकलने वाली इस नदी को तिब्बत में यरलुंग जंगबो और सांपो के नाम से जाना जाता है जब ये नदी भारत में असम घाटी में प्रवेश करती है तो इस नदी को असम में ब्रह्मपुत्र के नाम से जाना जाता है इस नदी को अरुणाचलप्रदेश में दिहांग के नाम से जाना जाता है। ब्रह्मपुत्र नदी विश्व का सबसे बड़ा नदी डेल्टा “सुंदरवन डेल्टा” का निर्माण करते हुए बंगाल की खाड़ी में जाकर मिल जाती है। ब्रह्मपुत्र नदी (असम में) ही विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप (World Largest River Island) “माजुली” स्थित है।

ब्रह्मपुत्र की सहायक नदियां
  • तीस्ता नदी तीस्ता नदी का उद्गम सिक्किम से होता है पश्चिम बंगाल से होते हुए बांग्लादेश में प्रवेश करती है और वहा ब्रह्मपुत्र से मिल जाती है।
  • लोहित नदी लोहित नदी को खून की नदी के नाम से जाना जाता है कमेंग, मानस, दिबांग, सुवनसिरी आदि ब्रह्मपुत्र की सहायक नदियां है। तिस्ता सुवनसिरि, कमँग, मानस, दिबांग दाए तट से और लोहित, बराक, दिबांग बाएं तट से ब्रह्मपुत्र से मिलती है।
  • बराक नदी बराक नदी मणिपुर की पहाड़ियों से निकलती है, मणिपुर से मिजोरम, असम होते हुए बंगलादेश में प्रवेश करती है और मेघना नदी में जाकर मिल जाती है।

प्रायद्वीपीय अपवाह तंत्र

हिमालयी नदी तंत्र की तुलना में प्रायद्वीपीय नदी तंत्र बहुत अधिक पुराना है। प्रायद्वीपीय नदियों के अपवाह तंत्र में नर्मदा, ताप्ती, माही. गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, महानदी आती है  नर्मदा, ताप्ती, माही अरब सागर में गिरने वाली नदिया है और गोदावरी, कृष्णा, कावेरी, महानदी बंगाल की खाड़ी में गिरने वाली नदियाँ है 

नर्मदा नदी (Narmada River)

नर्मदा नदी मध्यप्रदेश के अमरकंटक से निकलती है जो पश्चिम की और बहते हुए 1312 km की दूरी तय कर खम्बात की खाड़ी अरब सागर में मिल जाती है। नर्मदा नदी उत्तर में विंध्याचल पर्वत और दक्षिण में सतपुड़ा पर्वत के बीच भ्रंश घाटी (Rift Valley) से होते बहती है। नर्मदा नदी मध्यप्रदेश की सबसे बड़ी नदी है इसे मध्यप्रदेश की जीवन रेखा कहा जाता है नर्मदा नदी की सहायक नदिया ओरसंग, तवा और शेर है। नर्मदा और सोन ये दो नदियाँ अमरकंटक से निकलती है नर्मदा और सोन नदी, दोनों नदिया भ्रंश घाटी (Rift Valley) से होते हुए बहती है

ताप्ती नदी (Tapti River)

ताप्ती नदी मध्यप्रदेश के बैतूल जिले के निकट सतपुड़ा पहाड़ियों से निकलती है ताप्ती नदी की लम्बाई 724 किलोमीटर है ताप्ती नदी मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात से बहती हुई ये नदी अरब सागर में जाकर मिल जाती है।

महानदी नदी (Mahanadi River)

महानदी का उद्गम छत्तीसगढ़ के रायपुर के निकट सिहावा पहाड़ी से होता है महानदी की लम्बाई 1815 किलोमीटर है महानदी आगे पूर्व की और बहती हुई ये उड़ीसा में प्रवेश करती है और डेल्टा का निर्माण करते हुए बंगाल की खाड़ी में गिर जाती है तेल नदी और जोंक महानदी की प्रमुख सहायक नदी है।

गोदावरी नदी (Godavari River)

गोदावरी नदी प्रायद्वीपीय भारत की सबसे लम्बी नदी है यह नदी महाराष्ट्र के नासिक जिले के त्रम्बकेश्वर से निकलती है और दक्षिण पूर्व की और बहते हुए बंगाल की खाड़ी में गिर जाती है। गोदावरी नदी की लम्बाई 1465 किलोमीटर है पेनगंगा, इंद्रावती, प्रणहिता गोदावरी नदी की प्रमुख सहायक नदिया है

कृष्णा नदी (Krishna River)

कृष्णा नदी प्रायद्वीपीय भारत की दूसरी सबसे बड़ी नदी है कृष्ण नदी का उद्गम महाराष्ट्र के महाबलेश्वर के पास से होता है, इस नदी की कुल लंबाई 1400 किलोमीटर है कृष्णा नदी महाराष्ट्र से होते हुए कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्रप्रदेश से बहते हुए बंगाल की खाड़ी में गिर जाती है तुंगभद्रा, कोयना, भीमा कृष्णा नदी की प्रमुख सहायक नदियों है। कृष्णा नदी जल विवाद कृष्णा नदी के जल बटवारे से सम्बंधित है जो आंध्रप्रदेश, कर्नाटक और महाराष्ट्र के बीच 1957 से चल रहा है।

माही नदी (Mahi Nadi)

माही नदी का उद्गम मध्यप्रदेश के धार जिले के समीप विंध्याचल पर्वत श्रेणी से होता है माही नदी की लम्बाई 583 किलोमीटर है माही नदी मध्यप्रदेश, राजस्थान, और गुजरात से बहते हुई ये नदी खम्बात की खाड़ी में गिर जाती है। माही नदी भारत की एकमात्र ऐसी नदी है जो कर्क रेखा को 2 बार काटती है

कावेरी नदी (Kaveri River) 

कावेरी नदी कर्नाटक के कुर्ग के निकट ब्रह्मगिरि पहाड़ियों से निकलती है और कर्नाटक तामिलनाडू से बहते हुए तिरुचिरापल्ली के निकट बंगाल की खाड़ी में गिर जाती है कावेरी नदी की लम्बाई 800 किलोमीटर है कावेरी नदी को दक्षिण भारत की गंगा भी कहा जाता है।

स्वर्ण रेखा नदी (Swarnarekha River) 

स्वर्ण रेखा नदी झारखंड में बहने वाली एक पहाड़ी नदी है स्वर्ण रेखा नदी रांची के निकट छोटा नागपुर के पठार से निकलती है, झारखण्ड से निकलकर, पश्चिम बंगाल, उड़ीसा से होते हुए यह नदी बंगाल की खाड़ी में गिर जाती है। प्रसिद्ध शहर जमशेदपुर (टाटानगर) इसी नदी के तट पर स्थित है।

लूनी नदी (Luni River) 

लूनी नदी का उद्गम अजमेर के निकट अरावली पहाड़ियों के निकट नाग पहाड़ से होता है राजस्थान से होते हुए गुजरात के कछ के रन में ये नदी विलुप्त हो जाती है इस नदी को Salt River के नाम से भी जाना जाता है

पेन्नार नदी (Penar River)

पेन्नार नदी भारत की एक प्रमुख नदी हैं यह नदी कर्नाटक में नन्ददुर्ग पहाड़ी से निकलकर पूरब की ओर 970 किलोमीटर बहकर बंगाल की खाड़ी में गिरती है।

अन्य पढ़े:-

JOIN OUR TELEGRAM CHANNEL HPGKINDIA

FAQ 

Q. भारत की सबसे लम्बी नदी कौन सी हैं ?

Ans: भारत की सबसे लंबी नदी गंगा है।

Q. भारत की सबसे छोटी नदी का नाम क्या है?

Ans: भारत की सबसे छोटी नदी अरवारी है।

Q. भारत की सबसे गहरी नदी कौन सी है?

Ans: भारत की सबसे गहरी नदी भागीरथी है।

Q. बिहार का शोक किस नदी को कहा जाता है?

Ans: कोसी नदी को बिहार का शोक कहा जाता है।

Leave a Comment